नीचे थी तेज़ धार नदी, जान को जोखिम में डाल यूं किया पार, स्कूल के लिए हर रोज़ बच्चे उठाते हैं खतरा

पढ़ेगा इंडिया तभी तो आगे बढ़ेगा इंडिया, ये नारा तो हमने और आपने न जाने कितनी ही बार सुना होगा. लेकिन आज भी न जाने कितने ही गांव और इलाके ऐसे हैं जहाँ चाहकर भी बच्चे बेहतरी से शिक्षा हासिल नहीं कर सकते. क्योंकि स्कूलों तक पहुंचने के लिए छात्रों के पास रास्ता ही नहीं है. जान को जोखिम में डालकर हासिल करनी पड़ती है शिक्षा. एक ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है जहां स्कूल के लिए छात्र छात्राओं की ललक आप को दंग कर देगी.

ट्विटर के @ValaAfshar पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है, जहां नदी पार करती स्कूली छात्रा को देख आप दंग रह जाएंगे. तेज़ धार नदी के ऊपर से रस्सी के सहारे एक तरफ से दूसरी तरफ जाने के लिए जो तरीका अपनाया वो बेहद डरावना था. लेकिन खुद को शिक्षित करने और आगे बढ़ाने के लिए ये जरूरी है लिहाजा यहां के बच्चे हर रोज़ एक खतरा उठाते हैं.


जान जोखिम में डालकर स्कूल जाते दिखी छात्रा

वायरल वीडियो में आपको स्कूल यूनिफॉर्म पहने एक छात्र नजर आएगी जिसकी पीठ पर लदा है स्कूल का बस्ता. तेज़ धार बहती नदी के एक किनारे पर खड़ी होकर वो दूसरी ओर जाने की जुगाड़ में हैं. और उस पार जाने के लिए उसने अगले ही पल जो रास्ता और तरीका अपनाया उसे देख आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे. सबकुछ बहा ले जाने को आतुर तेज़ धार नदी के ऊपर से वो छात्रा रस्सी के सहारे एक तरफ से उस पार चली गयी. ठीक वैसे ही जैसे रोपवे के जरिए पार की जाती है नदी. लेकिन यहाँ बैठने की कोई व्यवस्था नहीं थी. बल्कि वो तार पर लटकी रस्सियों के बंडल को पकड़कर लटकते हुए उस पार तक गई थी.

तेज़ धार नदी को रस्सियों के सहारे किया पार

स्कूल पहुंच से दूर होंगे, तो बच्चों को शिक्षित होने के लिए ऐसा ही जोखिम उठाना पड़ेगा. जो हर हाल में पढ़ना और आगे बढ़ना चाहते हैं वो ऐसे जोखिम से अक्सर दो चार होते रहते हैं. आज भी ऐसे न जाने कितने ही गांव और इलाके हैं. जो सुदूर इलाकों में हैं. वहां तक पहुंचने का कोई सुलभ रास्ता नहीं. लिहाज़ा, कई किलोमीटर पैदल या फिर ऐसे जोखिमों को पार कर छात्र छात्राएं पहुंचते हैं स्कूल तक. इस वीडियो को देखने के बाद बहुत से ऐसे भी लोग रहे जो इस जगह का नाम जानना चाहते हैं, ताकि अपनी ओर से मुमकिन मदद मुहैया कराई जा सकें. वीडियो को लाखों व्यूज मिल चुके हैं.