रेल में सहयात्री तंग करते हैं? अब रेलवे सिखाएगा उन्हें सबक, जाने नए नियम

रेल में सफर अब और भी सुखद हो जाएगा। अक्सर सफर के दौरान सह-यात्री मोबाइल पर तेज बात कर या लाउड स्पीकर में गाना सुन लोगों को तंग करते हैं। वहीं रात में लाइट जलाने को लेकर भी विवाद होता है।



इसके अलावा रेलवे का स्कॉर्ट या मेंटीनेंस स्टॉफ गश्त के दौरान तेज आवाज करता है जिससे यात्रियों को सोने में दिक्कत होती है। इसकी शिकायतें रेलवे मंत्रालय को लगातार मिल रही थी। ऐसे में उन्होंने रात 10 बजे के बाद कुछ नियम तय कर दिए हैं।

इन नियमों को तुरंत लागू करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि यात्रियों को सफर में कोई परेशानी न हो। नियम का उलंघन करने पर यात्रियों के खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है। ये नियम इस प्रकार हैं –



1. यात्री रात 10 बजे के बाद तेज आवाज में फोन न तो बात कर सकेंगे और न ही तेज म्यूजिक सुन सकेंगे।

2. रात 10 बजे के बाद नाइट लैंप के अलावा सभी लाइटें बंद रहेगी।

3. ग्रुप में सफर कर रहे यात्री रात को जोर-जोर से बातें नहीं कर सकेंगे।



4. टीटीई, चेकिंग स्टाफ, आरपीएफ के जवान, इलेक्ट्रीशियन, कैटरिंग स्टाफ और मेंटेनेंस स्टाफ इत्यादि रात को अपना काम शांति से करेंगे।

5. 60 की उम्र से अधिक बुजुर्गों, विकलांगों और अविवाहित महिलाओं को आवश्यकता पड़ने पर रेलवे के कर्मचारी तुरंत मदद करेंगे।