जाने वो सात लक्षण, जिसके दीखते ही बनने लगते हैं लक्ष्मी के योग

वैदिक परंपरा से सनातन धर्म और सनातन धर्म से आधुनिक हिन्दू धर्म कई बदलाव समय के साथ देखे गए हैं। विज्ञान सम्मत रिवाजों और प्रथाओं में आज भी बहुसंख्यक आस्थावान लोगों का विश्वास अटूट है। वो आज भी शुभ अशुभ संकेतों और आस पास की घटनाओ से जीवन में होने वालों काल क्रिया को भांपने की कोशिश करते हैं। आर्थिके तंगी के इस हालात में आपको भी कुछ उन संकेतों का पता होना चाहिए, जो लक्ष्मी के साक्षात दर्शन करा सकें । आज हम आपको उन्हीं कुछ शुभ धनागम के चिन्हों से आपको अवगत कराने जा रहे हैं।

घर में काले रंग चीटियां



घर मे काले रंग की चीटियों का दिखना शुभ माना जाता है। ऐसी धारणा है कि जिस घर में काले रंग की चीटियां नजर आती है, घेरा बनाती है, वहां लक्ष्मी आने की संभावना प्रबल होती है। अतः घर मे अगर काली चीटियां नजर आए तो उन्हें मारने की भूल कभी न करें, बल्कि उल्टा अगर सम्भव हो तो आटे में चीनी मिला कर उन्हें भोजन के रूप में परोसे।

रोटी खाती गौ-माता



हिन्दू सनातन धर्म में गाय एक पूज्यनीय पशु है। इसके प्रत्येक अंग में देवता का वास है। अगर आप कही जा रहें हो और रास्ते में रोटी खाती गाय दिख जाए तो समझ जाइये कि धन की प्राप्ति होने वाली है। गाय को वैसे भी अपने हाथों से रोटी खिलाना चाहिए। शास्त्रों में घर का पहला भोजन ब्राह्मण या फिर गाय को देने का रिवाज है। पर्व त्योहारों में आज भी महिलाएं चूल्हे की पहली रोटी गाय को समर्पित कर के आती हैं।

छिपकली का दिखना



वैसे तो कई लोगों को छिपकली से डर लगता है। उसे देखते ही चीखने चिल्लाने लगते हैं। लेकिन शास्त्रों की माने तो छिपकली का होना भी धन के आगमन का सूचक होता है। कहा जाता है कि एक साथ यदि घर मे तीन छिपकली दिख जाए तो यह और भी ज्यादा शुभकारी होता है। जहा एक तरफ इनके रहते घर मे कई कीड़े मकोड़े पनप नहीं पाते, वहीं दूसरी तरह यह लक्ष्मी के निवास का सूचक होता है। अतः छिपकली को बेवजह नुकसान नहीं पहचाना चाहिए।

हाथ के खुजली होना



हाथ मे खुजली हो तो लक्ष्मी आने वाली है, ये लोकोक्ति काफी पुरानी है। शास्त्रों की माने तो हाथों में कभी कभी खुजली होना भी धन आगमन का सुखद संदेश दे सकता है। हाथ कहने का तात्पर्य हथेलियों से है। अगर आपके हाथ में खुजलाहट है, तो हो सकता है यह लक्ष्मी आने से पहले की कोई सूचना हो।

शंख की ध्वनि सुनाई देना



हिन्दू सनातन धर्म मे शंख को भगवान विष्णु का पूजक माना गया है। विज्ञान भी शंख की ध्वनि को दैवीय मानता है और इसके ध्वनि से सकारात्मक ऊर्जा के प्रचार की बात को बार बार दुहराता है। कहा जाता है कि यदि आपके कानों में बरबस ही शंख की ध्वनि सुनाई दे, तो यह आने वाले धन का संकेत देता है। पूजा पाठ में भी शंख बेहद शुभ माना जाता है।

उल्लू का आना



उल्लू को भगवान लक्ष्मी का सवारी कहा जाता है। जिस घर मे उल्लू आ जाये वहां लक्ष्मी का भी वास सुनिश्चित हो जाता है। अतः यदि आपके घर के आस पास या छत मुंडेर पे उल्लू दिखें तो उसे तकलीफ मत दीजिये, उससे डरिये मत। बल्कि उस नमन कीजिये और कुछ खाने को दीजिये। उल्लू का दिखना धन के लिहाज से बहुत उत्तम माना जाता है।

चिड़ियों का घोसला



सनातन धर्म में चिड़ियों को दाना देने का रिवाज पहले से है। लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि घर में अगर चिड़ियाँ घोसला बना दें तो यह बेहद शुभ माना जाता है। घर में चिड़ियों की चहचहाट कभी भी धनाभाव की स्थिति उत्पन्न नही होने देती। अतः घर में पंछी बसने आये, कहीं छोटा मोटा घोसला बनाये तो समझ लेना चाहिए कि लक्ष्मी का योग बन रहा है। यह बेहद शुभ संकेत माना जाता है।

तो ये थी कुछ पौराणिक प्रचलित बातें जो शास्त्रों में कही गयी है और दैनिक जीवन में महत्वपूर्ण हिस्सेदारी निभाती है।