साउथ की हिंदी डब फिल्में बॉलीवुड को चटा रही धूल, क्या जल्द खत्म हो जाएगा Bollywood ?

‘पुष्पा द राइज़’ की जबरदस्त सफलता ने बॉलीवुड की नींद उड़ा रखी है। बाहुबली, काबाली, रोबोट, केजीएफ, जयभीम जैसी फिल्मों का बॉक्स ऑफिस पर राज देख हिंदी फिल्म मेकर्स भी हैरान हैं। पहले के जमाने में नॉर्थ इंडिया के लोगों में साउथ की फिल्मों को लेकर इतना क्रेज नहीं था। लेकिन अब कहानी कुछ और है।



साउथ की फिल्मों का बढ़ता क्रेज देख लोग ये कयास लगा रहे हैं कि कहीं बॉलीवुड का अंत निकट तो नहीं? जल्द ही साउथ और नॉर्थ की फिल्मों का अंतर खत्म हो सकता है। भारत में सिर्फ एक सिनेमा रह जाएगा।



दरअसल साउथ फिल्मों की हिंदी डबिंग, युनीक कंटेन्ट, अलग स्टोरी टेलिंग लोगों को बड़ी पसंद आ रही है। बॉलीवुड की वही घिसे पीते फॉर्मूले पर बनी फिल्में देख लोग बोर हो गए हैं। ऐसे में उन्हें साउथ फिल्मों में कुछ अलग अनुभव देखने को मिल रहा है।



बीते कुछ समय में टीवी और यूट्यूब पर हिंदी डबिंग वाली साउथ फिल्में भी बहुत आ गई है। इन्हें देख भी लोग साउथ फिल्मों और वहां के सितारों के फैन हो गए हैं। टीवी चैनलों को भी बॉलीवुड के मुकाबले साउथ फिल्मों के सेटेलाइट राइट्स कम कीमत पर मिल जाते हैं। तो वे इन फिल्मों को अधिक दिखाते हैं।



नॉर्थ इंडिया के लोगों को साउथ की फिल्मों की फुल स्पीड में चलती कहांनियां, एक्शन, कॉमेडी और इमोशन सबसे अधिक पसंद आते हैं। कुछ समय पहले बॉलीवुड की 83 और साउथ की पुष्पा एकसाथ रिलीज हुई थी। हालांकि पुष्पा, 83 पर भारी रही। कई थिएटर ने 83 उतार अपने यहां भी पुष्पा लगा दी।

साउथ फिल्मों ने ये साबित कर दिया कि एक हिट फिल्म के लिए कंटेंट में दम होना चाहिए। फिर भाषा और हिंदी चेहरा मायने नहीं रखता है।

वैसे आपको क्या लगता है साउथ की फिल्में बॉलीवुड को खत्म कर देगी?